अमरोहा. उत्तर प्रदेश के अमरोहा में 26 अगस्त की रात को अनमोल हत्याकांड का खुलासा करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक अजय प्रताप ने बताया कि अनमोल गाजियाबाद में ऑटो रिक्शा चलाकर अपने परिवार का पालन पोषण करता था. ऑटो चलाते समय सवारियों को लेकर दो ऑटो चालकों में विवाद हो गया और विवाद इतना बढ़ा कि अनमोल को अपनी जान गंवानी पड़ी. गंगा बृजघाट पर नहाने के बहाना कर 600 रुपये में बुकिंग कर लाए थे अनमोल को हत्यारे. यशपाल ने डंडे से पीट-पीट कर मौत के घाट उतारा था और शव को थाना गजरौला के जंगलों में फेंक दिया था.

सवारियों से हुआ था विवाद

दरअसल पूरा मामला अमरोहा के थाना गजरौला क्षेत्र के कूदेना गांव से जुड़ा है. 26 अगस्त को अज्ञात युवक का शव गजरौला के गांव कुदेना में पड़ा मिला था. जिसकी पहचान गाजियाबाद के अनमोल के रूप में की गई थी. अनमोल गाजियाबाद का मूल निवासी था और वहीं, ऑटो रिक्शा चला कर अपने परिवार का पालन पोषण करता था. ऑटो चलाते समय, सवारियों को लेकर यशपाल से कहासुनी हो गई थी.

जिसका बदला लेने के लिए यशपाल ने अपने रिश्तेदार को ऑटो की बुकिंग के बहाने बुलाकर अमरोहा के थाना गजरौला क्षेत्र के जंगलों में डंडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी थी, जिसका आज अमरोहा पुलिस ने खुलासा करते हुए पुलिस ने आला कत्ल डंडा और खून से सने कपड़े बरामद कर तीनों युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

ये भी पढ़ें.

यूपी: जांच में नहीं खरे उतरे स्मार्ट मीटर, रिपोर्ट को दबाये बैठे रहे विभाग के इंजीनियर



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate to