नई दिल्लीः भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलएसी पर बीते काफी लंबे समय से गतिरोध जारी है. जिसे लेकर भारतीय सेना और चीनी सेना के बीच झड़प की भी खबरें सामने आ चुकी हैं.

वहीं हाल ही में भारत और चीन के सैनिकों के बीच फायरिंग की घटना हुई. जिस पर चीन की ओर से कहा गया है कि सोमवार को पैंगोंग त्सो झील के दक्षिणी किनारे पर भारतीय सेना ने फिर से अवैध रूप से वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार किया, जिसके कारण चीनी सैनिकों को जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी.

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर जारी गतिरोध के बीच खबरों के अनुसार PLA वेस्टर्न थिएटर कमांड के प्रवक्ता ने कहा है कि भारतीय सैनिकों की ओर से अवैध रूप से वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार किया गया है. जिसके कारण चीनी सैनिकों को स्थिति को स्थिर करने के लिए जवाबी कार्रवाई करने के लिए मजबूर किया गया था.

बता दें कि भारत-चीन सीमा पर बीते 100 दिन से अधिक वक्त से जारी तनाव के बीच मॉस्को में पहली बार दोनों देशों के विदेश मंत्री रूबरू होंगे. शंघाई सहयोग संगठन की बैठक के हाशिए पर विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष वांग यी के बीच द्विपक्षीय मुलाकात भी अपेक्षित है.

एससीओ विदेश मंत्रियों की बैठक के लिए जयशंकर मंगलवार सुबह मॉस्को रवाना हो रहे हैं. उम्मीद की जा रही है कि दोनों विदेश मंत्रियों की आमने-समने मुलाकात सैन्य गतिरोध सुलझाने के लिए आगे का रास्ता तलाश सकती है.

इसे भी पढ़ेंः
भारत-चीन विवाद: मॉस्को में मिलेंगे जयशंकर और वांग यी, सीमा तनाव सुलझाने का रास्ता निकालने की होगी कोशिश

चीन के साथ तनाव के बीच LAC पर सर्दी के लिए राशन, तेल और दूसरे जरूरी सामान को स्टॉक करने की तैयारी में सेना





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate to