कोलकाता: पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने एक व्यक्ति की ‘हिरासत में हुई मौत’ के मुद्दे पर बोलते हुए रविवार को आरोप लगाया कि राज्य की ‘राजनीतिक रूप से प्रेरित’ पुलिस शासन के हर क्षेत्र में दखल दे रही है. बीजेपी का दावा है कि वह व्यक्ति उसका कार्यकर्ता था.

धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लिखे पत्र में कहा कि पूर्वी मेदिनीपुर के कनकपुर गांव के निवासी मदन गोराई की मौत हिरासत में हुए ‘अमानवीय अत्याचार, उत्पीड़न और मौत’ की एक और घटना है. उन्होंने कहा कि इस प्रकार की घटनाएं राज्य की छवि को नुकसान पहुंचा रही हैं.

धनखड़ ने कहा कि यह खुला रहस्य है कि राजनीतिक रूप से प्रेरित पुलिस शासन के हर क्षेत्र में दखल दे रही है और यह पुलिस की आदत बन गई है. गोराई को अपहरण के एक मामले में 26 सितंबर को पूर्वी मेदिनीपुर के पताशपुर में गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने कहा है कि वह उसकी नहीं, बल्कि न्यायिक हिरासत में था जबकि बीजेपी कह रही है कि उसे पुलिस हिरासत में रखा गया था.

धनखड़ ने मुख्यमंत्री को पत्र में लिखा, ‘यह सही समय है कि आप अपनी संवैधानिक शपथ को निभाएं और कानून का शासन लागू करें तथा राज्य में लोकतांत्रिक शासन सुनिश्चित करें और पुलिस एवं प्रशासन को ‘राजनीतिक रूप से तटस्थ और जवाबदेह’ बनाएं.’

यह भी पढ़ें:

ब्रह्मोस का समंदर में सफल परीक्षण, नौसेना को लंबी दूरी पर जमीन पर हमला करने में मिलेगी मदद



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate to