Sagittarius Horoscope: धनु राशि में बृहस्पति ग्रह 13 सितंबर को अपनी चाल बदलने जा रहे हैं. बृहस्पति अभी धनु राशि में ही वक्री अवस्था में लेकिन अब वे मार्गी होने जा रहे हैं. वक्री अवस्था में जब कोई ग्रह होता है तो वह पीड़ित हो जाता है और शुभ फल देने में असर्मथ हो जाता है या फिर पूर्ण फल प्रदान नहीं कर पाता है.

ज्योतिष शास्त्र में बृहस्पति को शुभ ग्रह माना गया है. बृहस्पति शुभ फल प्रदान करने वाला ग्रह है, लेकिन जब ये अशुभ हो या फिर किसी पाप ग्रह से पीड़ित हो जाए तो अशुभ फल भी प्रदान करने लगता है. शुभ बृहस्पति व्यक्ति को विद्वान और धनवान बनाता है. शुभ बृहस्पति व्यक्ति को कई श्रोतों से धन दिलाता है. ऐसे लोग उच्च पद और सम्मान प्राप्त करते हैं.

वक्री और मार्गी में अंतर
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब कोई ग्रह उल्टी चाल चलता है तो उसे वक्री चाल कहते हैं वहीं जब ग्रह सीधी चाल चलता है तो उसे मार्गी चाल कहते हैं. अभी तक बृहस्पति यानि गुरु उल्टी चाल गोचर कर रहे थे. पंचांग के अनुसार 13 सितंबर 2020 को गुरु अपनी चाल बदल लेंगे.

धनु राशिफल: बृहस्पति मार्गी
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार धनु राशि बृहस्पति की अपनी राशि कहलाती है. बृहस्पति को धनु राशि का स्वामी माना गया है. बृहस्पति अपनी ही राशि में जब मार्गी होंगे तो इसके फल कुछ इस प्रकार रहेंगे.

धन लाभ: धनु राशि के जातकों को बृहस्पति मार्गी होने पर धन लाभ करा सकते हैं. क्योंकि बृहस्पति को धन, गोल्ड और सुख सुविधाओं का भी कारक माना गया है. इसलिए धनु राशि वाले इस गोचर में निवेश कर सकते हैं. विभिन्न श्रोतों से धन प्राप्त कर सकते हैं.

शिक्षा: धुन राशि वालों को इस दौरान अच्छे परिणाम देखने को मिल सकते हैं. रूके रिजल्ट जारी हो सकते हैं या फिर परीक्षा देने का अवसर मिल सकता है. इस दौरान पढ़ाई में मन लगेगा. शुभ समाचार प्राप्त होंगे.

जॉब और बिजनेस: धनु राशि वालों को जॉब में नई जिम्मेदारी मिल सकती है. प्रमोशन आदि की स्थिति भी बन सकती है. स्थाप परिवर्तन भी हो सकता है. व्यापार की दिशा में कुछ नया कर सकते हैं. संपर्को का पूर्ण लाभ मिलेगा और व्यापार में लाभ की स्थिति बनेगी.

Chanakya Niti: दांपत्य जीवन में सुख-शांति बनी रहेगी, जब इन बातों पर करेंगे अमल



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate to