भारत के सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे का कहना है कि चीन के साथ एलएसी यानि वास्तविक नियत्रंण रेखा पर हालात नाजुक है. उधर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कह रहे हैं कि चीन आक्रामक तेवर न दिखाए. ये दोनों बयान चीन के प्रति भारत की बदली नीति की तरफ साफ इशारा करते हैं. यानि चीन को पंगा लेना है तो हमें भी पंगा लेना आता है. इसके साथ ही चेतावनी भी छुपी है कि चीन के लिए बेहतर यही होगा कि वो भारत से क्षेत्रीयता स्थिरता और शांति बनाए रखने के लिए बराबरी के स्तर पर बात करे. भारत के कड़े रुख के पीछे चीन से ही सीखा सबक है जिसे अब चीन को उसी की भाषा में भारत सिखा रहा है.



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate to