नई दिल्ली: सालों से चला आ रहा मंदिर-मस्जिद विवाद खत्म होने के बाद, जहां एक तरफ भव्य राम मंदिर बनाने की नींव रख दी गई है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हुए थे. तो वहीं दूसरी तरफ नई मस्जिद बनाने की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं.

सुप्रीम कोर्ट की तरफ से सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन मस्जिद बनाने के लिए दी गई थी उसमें ना सिर्फ भव्य मस्जिद बल्कि नई  कॉन्प्लेक्स में कई और चीजें भी मौजूद होंगी. 5 एकड़ जमीन पर क्या काम होना है इसके लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन बनाया गया था. अयोध्या में विवादित स्थान से तकरीबन 25 किलोमीटर की दूरी पर धन्नीपुर गांव में सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड को यह ज़मीन मिली है.

इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ने नई  मस्जिद को डिजाइन करने का ज़िम्मा जामिया मिलिया इस्लामिया के डीन ऑफ आर्किटेक्चर डिपार्टमेंट, आर्किटेक्ट एस एम अख्तर को दिया है. एस एम अख्तर से हमने बात की तो उन्होंने बताया कि यह इंटरेस्टिंग और बड़ा प्रोजेक्ट है.

एस एम अख्तर ने कहा कि, “आर्किटेक्ट के लिए तो सभी प्रोजेक्ट ऐसे होते हैं जिसमें हम बेस्ट डिलीवर करना चाहते हैं यही कोशिश इसके लिए भी है कि जितना बेस्ट डिलीवर कर सकते हैं करें. आर्किटेक्चर के साथ प्रॉब्लम यह है कि बहुत सारे मिसकन्सेप्शन हैं. आर्किटेक्चर कभी भी पास्ट पर रेलाई नहीं करता, फ्यूचर के लिए होता है.”

क्या नई  मस्जिद में पुरानी मस्जिद की झलक देखने को मिल सकती है इस सवाल पर उन्होंने बताया कि, ‘आर्किटेक्चर में कभी भी कोई भी पुरानी बिल्डिंग या स्ट्रक्चर को रेप्लिकेट नहीं किया जाता, करेंगे तो क्रूड इंप्रोवाइजेशन होगा.’ आर्किटेक्चर में हमेशा एक नई सोच क्रिएट करने की हंच होती है जो यहां भी रहेगी की कंटेंपरेरी सोसाइटी के लिए और फ्यूचर के लिए और प्रेजेंट के लिए हो.

इस प्रोजेक्ट की खासियत का बताते हुए उन्होंने जानकारी दी कि यह प्रोजेक्ट इसलिए भी खास है क्योंकि इसमें सोशल कंसर्न ज्यादा है. इसमें आर्किटेक्चर के अलावा कॉम्प्लेक्स में मस्जिद के अलावा जो कॉन्सेप्ट है उसके पीछे जो सोच है वह ‘सर्विस टो ह्यूमैनिटी’ है. यह एक सोशल मिशन है जो ‘ खिदमात ए खलक’ पर आधारित है. आजकल के आदमी को हेल्थ और एजुकेशन चाहिए और उस इलाके में हेल्थ की फैसिलिटी बहुत कम है. हेल्थ के साथ-साथ एजुकेशन के कंपोनेंट्स भी होंगे.

यह भी पढ़ें:

कोई नहीं पढ़ पाएगा आपकी WhatsApp चैट, इस सेटिंग से बनाएं व्हाट्सऐप डेटा को सुरक्षित

 



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate to