लखनऊ: उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा है कि राज्य ने लॉकडाउन के कारण हुए नुकसान से उबरते हुए अगस्त 2020 में 9545.21 करोड़ रुपये का राजस्व हासिल किया, जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 600 करोड़ रुपये अधिक है. खन्ना ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण घोषित लॉकडाउन की वजह से अप्रैल, मई और जून में प्रदेश का राजस्व काफी घट गया था, लेकिन जुलाई से इसने रफ्तार पकड़ी.

सुरेश खन्ना ने बताया, ”अगस्त 2019 में विभिन्न मदों के तहत 8942.76 करोड़ रुपये का राजस्व मिला था, जबकि अगस्त 2020 में इन मदों में कुल 9545.21 करोड़ रुपये का राजस्व मिला, जो पिछले वर्ष की समान अवधि के मुकाबले लगभग 600 करोड़ रुपये ज्यादा है.” उन्होंने इस आधार पर दावा किया कि राज्य की आर्थिक गतिविधियां पहले से बेहतर स्थिति में पहुंच रही हैं.

वित्त मंत्री ने आगे बताया कि जीएसटी और वैट के तहत अगस्त 2019 में 5126.56 करोड रुपये का राजस्व मिला था, जो अगस्त 2020 में बढ़कर 5329.58 करोड़ रुपये हो गया है.

यूपी में तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले

गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. यूपी सरकार के कई मंत्री भी कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं. योगी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. इसके अलावा कैबिनेट मंत्री सतीश महाना और मंत्री मोहसिन रजा की भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है. यूपी सरकार के दो मंत्रियों का निधन भी कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते हो चुका है. जिनमें, कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण और चेतन चौहान का नाम शामिल है.

यह भी पढ़ें:

अयोध्या के विकास के लिए किए जा रहे हैं काम, सरकार को है रोजगार की चिंता: केशव प्रसाद मौर्य

कोरोना को लेकर योगी सरकार का बड़ा फैसला, सरकारी कर्मचारियों को लेकर दिया ये आदेश



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate to